Virtual mobile number

Virtual mobile number क्या होता हैं? यह कैसें काम करता हैं ।

दोस्तों! Virtual mobile number का मतलब होता हैं कि एक एसा mobile number जिसके लिए किसी भौतिक सीम कार्ड की आवश्यकता नहीं होती हैं। या यूं कहें कि सीम कार्ड की जरुरत ही नहीं पड़ती।

आपकों भी जानकर हैरानी होगी कि एसा भी हो सकता है क्या कि अपने पास mobile number हैं और सीम तो हैं ही नहीं। हैं ना कमाल का।

आओ जानतें हैं कि virtual mobile number क्या होता हैं और ये कैसें काम करता हैं। इसमें हमें क्या क्या सुविधा मिलती हैं। साथ ही यह भी जानेंगे की क्या virtual mobile number लिगल हैं या नहीं।

चलिये शुरू करतें हैं।

Virtual mobile number को दूसरें क्या-क्या नामों से जाना जाता हैं??

Virtual mobile number को डायरेक्ट इनवर्ड डायलिंग (DID) या VOIP ( VOICE OVER INTERNET PROTOCOL) या एक्सेस नंबर के नाम से भी जाना जाता है। वर्चुअल प्राइवेट नंबर एक टेलीफोन नंबर होता है, जो किसी भी पूर्व-निर्धारित टेलीफोन नंबर पर आने वाली कॉल को आगे बढ़ाता है। इन्हें फॉलो-मी नंबर, एक वर्चुअल टेलीफोन नंबर या पर्सनल नंबर (केवल UK में) भी कहा जाता है।

वर्चुअल मोबाइल नंबर

Virtual mobile number एक क्लाउड सिस्टम का एक भाग हैं जो इंटरनेट कनेक्शन के माध्यम से चलता हैं। इसका उपयोग पूरे संसार में communication के लीए किया जा सकता हैं। अर्थात् कोई भी उपयोगकर्ता किसी भी देश से किसी भी देश में कॉल कर सकता है। अब आपके दिमाग में आ रहा होगा कि हम अपने सीम कार्ड से भी पूरे संसार मे बात कर सकतें हैं।

हांजी, बिल्कुल सही सोचा आपने । कर तो सकतें हैं लेकिन बिल बहुत आयेगा 🤣। क्यौंकि roaming लगेगा। इसलिए दूसरें देशों मे कल करने के लिए Virtual mobile number का प्रयोग किया जाता हैं। वर्चुअल मोबाइल नंबर उन कंपनियों या उं लोगों के लिए एक शानदार विकल्प है, जिनके ग्राहक या सगे सम्बन्धी विभिन्न देशों में रहते हैं। हम किसी भी विभिन्न देशों का वर्चुअल नम्बर खरीद सकते हैं और उन्हें एक सामान्य प्रणाली से उपयोग कर सकते हैं। इस प्रकार एक क्लाउड टेलीफोनी सिस्टम आपको एक ही सिस्टम से कई वर्चुअल नंबरों का उपयोग करने देता है।

टेलीफोनी सिस्टम क्या हैं??

साधारण भाषा में कहें, तो टेलीफोनी तकनीक वह तकनीकी है जो व्यक्तियों को एक दूसरे के साथ दूरी पर कम्युनिकेशन करने की अनुमति देती है।

IP टेलीफोनी क्या हैं?

इसका पूरा नाम है- इंटरनेट प्रोटोकॉल टेलीफोनी। आईपी टेलीफोनी कम्युनिकेशन का वह सिस्टम है जो इंटरनेट का उपयोग करतें हुए व्यक्तियों को एक दूसरे के साथ दूरी पर कम्युनिकेशन करने की अनुमति देता है|

वर्चुअल मोबाइल नंबर कैसें काम करता हैं??

इसका उपयोग करने के लिये अलग से कोई हार्डवेयर नहीं खरीदना पड़ता हैं। अपने फोन से ही उपल्ब्ध कई सोफ्ट्वेयरस का उपयोग कर सकतें हैं। वर्चुअल मोबाइल नंबर, एक तरीके का टेलीफोन नंबर ही है जो किसी टेलीफोन लाइन से जुड़ा हुआ नही होता है। इस नंबर पर आने वाले कॉल को एक पूर्व-निर्धारित टेलीफोन नंबर पर forward करने के लिए प्रोग्राम किया जाता है। जो युजर्स द्वारा पहलें ही चुन लिया जाता हैं। एक तरीके से वर्चुअल नंबर पारंपरिक कॉल (PSTN) और वीओआईपी के बीच एक प्रवेश द्वार की तरह काम कर सकता है। यह इंटरनेट का उपयोग करतें हुए सूचनाओं को डाटा के पैकेज के रूप मे स्थानांतरित करता हैं।

Virtual नंबर को अलग अलग से में अलग अलग टेलीफोन नंबर पर टेलीफोन कॉल के लिए सेट कर सकते हैं। जैसे कि सुबह 9:00 से शाम के 5:00 बजे तक किसी ऑफिस के नंबर पर सेट कर दिया और शाम को 5:00 बजे के बाद घर के किसी नंबर पर सेट कर दिया। इस प्रकार कुछ नंबर को समय के अनुसार अलग-अलग नंबर पर सेट किया जा सकता है।

वर्चुअल नम्बर कौन देता हैं।

Virtual नंबर सामान्यता वर्चुअल प्रोवाइडर कंपनी उपलब्ध कराती है जोकि उस देश के संचार डिपार्टमेंट पर डिपेंड करती हैं। वहां की सरकार तय करती है कि कौन-कौन से नंबर वर्चुअल मोबाइल नंबर प्रोवाइडर कंपनी को देने हैं और किस प्रकार मैनेजमेंट किया जाना है।

Virtual मोबाइल नम्बर प्रोवाइडर वेबसाइट कौन कौनसी हैं?

वर्चुअल नंबर कहीं सारी वेबसाइट अवेलेबल कराती है जिनकी की अपने अलग-अलग चार्ज होते हैं आप अपनी जरूरत के हिसाब से जिसकी कंट्री का मोबाइल नंबर देना चाहते हो वह सेलेक्ट करें और फिर जिस प्रकार का मोबाइल नंबर आपको लेना है वह सिलेक्ट करके फैमिली आपको पेमेंट करना होता है पेमेंट महीने वार जिया वार्षिक रूप में होता है।

  1. Traversetelecom.com
  2. W3.zeotel.com
  3. Freezvon
  4. Knowlarity.com

आदि कई सारी वेबसाइट हैं जिनके माध्यम से आप वर्चुअल मोबाइल नंबर ले सकतें हैं।

वर्चुअल मोबाईल नम्बर प्रोवाइडर एप्प्स कौन कौनसी हैं??

कुछ एप्प्स भी वर्चुअल मोबाइल नंबर प्रोवाइड करते हैं । आइए जानते है कुछ एप्प्स के बारें में जो की वर्चुअल नम्बर में अपना अधिकार बनाए हुए हैं।

  1. Nextiva – 20 डॉलर प्रति महीना से चार्ज शुरु करते हैं।
  2. Text now- फ़्री वर्जन भी अवेलेबल होता हैं, यदि एक्स्ट्रा फ़ीचर यूज करने हो तो पे कर सकते हैं।
  3. Evoice – 8 डॉलर प्रति महीना से चार्जज शुरु होते हैं।
  4. Phone.com – 13 डॉलर प्रति महीना से चार्जज शुरु होते हैं।
  5. Grasshopper – 26 डॉलर प्रति महीना से चार्जज शुरु होते हैं।

इस प्रकार कई सारे एप्प्स है जो वर्चुअल मोबाइल नंबर प्रोवाइड करते हैं।

क्या वर्चुअल मोबाईल नंबर लीगल हैं??

किसी देश में वैध होना या नहीं होना उस देश की Government पर निर्भर करता हैं। हाँ ,  यह भारत में वैध है। और बहुत सारे अन्य देशों में भी वैध हैं।

वर्चुअल मोबाईल नंबर के क्या लाभ हैं??

  1. कॉल दर का सस्ता होना।
  2. फिजिकल सीम कार्ड की आवश्यकता नहीं होना।
  3. विदेश मे यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए एक अच्छी सुविधा हैं। वे उनके दोस्त और घर पर एक स्थानीय कॉल का उपयोग करके उनसे संपर्क कर सकते हैं। किसी भी देश में से किसी भी देश में कॉल कर सकते हैं।
  4. वर्चुअल नंबर कॉल सेंटर में बहुत प्रसिद्द हैं। जब किसी कम्पनी द्वारा अपने अलग-अलग देशों मे स्थित कस्टमर्स को कोई जानकारी देनी होती हैं तो उनको वर्चुअल नम्बर से आसानी होती हैं। वे कस्टमर से आसानी से बात कर सकतें हैं। यह 24/7 का कवर प्रदान करते हैं।
  5. कुछ कंपनियां विभिन्न मार्केटिंग कामों , विभिन्न मीडिया चैनलों के लिए वर्चुअल नंबरों का उपयोग करती हैं।
  6. टोल फ़्री नम्बर की तरह भी काम मे लिये जाते हैं।
  7. इसका सेट अप आसान होता हैं, अर्थात् वर्चुअल मोबाईल नंबर ऐक्टिवेट करने मे ज्यादा समय नहीं लगता हैं। फिजिकल सीम कार्ड की ऐक्टिविटी में ज्यादा समय लग जाता हैं।
  8. एक वर्चुअल नम्बर के साथ, इसकी प्रोवाइडर कंपनीज कई सुविधाएं उपलब्ध कराती है। जैसे- कॉल फॉरवर्डिंग, कॉल रिकॉर्डिंग, वॉइसमेल, आईवीआर, कॉल कॉन्फरेंस ताकि कस्टमर अधिक से अधिक लाभ उठा सकें।

कॉल फॉरवर्डिग क्या होतीं हैं??

यदि आप attend नही कर सकतें हैं तो अपने किसी व्यक्ति को फॉरवर्ड कर सकतें हैं।

कॉल रिकॉर्डिंग क्या होती हैं??

किसी कॉल को रेकॉर्ड कर सकते हैं।

वॉइसमेल क्या होता हैं??

किसी समय आप कॉल attend नहीं कर सकतें है तो आपके कस्टमर आपको एक वाइस मेल छोड़ सकतें हैं। यह मेसेज आपको अपनी मेल पर मिल जाता हैं।

IVR क्या होता हैं ??

इसका फुल फॉर्म होता हैं- Interactive voice response. यह एक कम्पूटिरिंग प्रणाली है जो कॉल करने वाले व्यक्ति से बात करता हैं। जो की पूर्व मे ही कम्पुटर मे सेट होता है। साधारण भाषा में समझे तो जब आप किसी मोबाईल कम्पनी मे कॉल करते हैं तो आगे से एक फिमेल वाइस आती है। जो की एक IVR का ही उदहारण हैं।

कॉल कॉन्फरेंस क्या होता हैं??

इस सुविधा के माध्यम से आपपूर्व में चल रहे दो फ़ोन कॉल में तीसरे फ़ोन कॉल को जोड़ सकते हैं। और इसे कॉन्फ्रेंस ब्रिज में भी बदल सकतें है।

इस प्रकार आज हमनें वर्चुअल मोबाईल नंबर के बारें जानकारी प्राप्त की है। ज्यादातर यह देखा जाता हैं कि वर्चुअल नम्बर प्रोवाइड कराने वाली कंपनीज की अलग-अलग प्लानिंग होती हैं। जैसे-जैसे आप आगे बढ़ेंगे, आप और अधिक आकर्षक सुविधाएँ दी जायेगी। आपको बहुत सारे फीचर्स उपलब्ध करवाये जायेंगे लेकिन उनके बदले मे आपको रूपये भी अधिक खर्च करने होंगे।

%d bloggers like this: