TAF FORMAT

TAF (शिक्षक मूल्यांकन प्रपत्र) 2020 दिशा- निर्देश और PDF

source- www.rajegyan.in

TAF कैसें भरना हैं, इसके लिए ये वीडियो देखें-

https://youtu.be/LHjYQS5oMf4

source- royal teacher

👉👉👉आवश्यक सूचना 👈👈👈

TAF भरत समय जिन साथियों के प्रशिक्षण खाली आ रहा है वो पहले फार्म नम्बर 10 (शालादर्पण) मे प्रशिक्षण भरे ओर वो प्रशिक्षण 1 जनवरी 2020 के बाद का होना चाहिए अगर कोई प्रशिक्षण नही है तो फार्म नम्बर 10 मे कोई नही भरे वो स्वत: ही टीएएफ मे आ जायेगा।

प्रपत्र 10 भरने से पहले उसको PEEO से अनलॉक कराना अनिवार्य है! वरना किसी भी प्रकार की एडिटिंग नहीं हो पाएगी! अगर आपका प्रपत्र 10 पहले से ही अनलॉक है तो आप उसमें प्रशिक्षण भर सकते हैं! अन्यथा पहले अनलॉक कराना आवश्यक है!

Subject mapping भी पहले स्कूल लागिन से भरनी है फिर उसमे सभी विषय भरनी है। जैसे कला,स्वास्थ्य आदि। उसके बाद ही वो अपडेट होगा । वरना बार बार रिट्राई आयेगा। अगर किसी ने बिना mapping टीएएफ भर दिया है तो उसको सुधार करके पुनः भरे।

शिक्षक मूल्यांकन प्रपत्र(TAF FORMAT)दिशा-निर्देश

सत्र 2015-16 से राज्य में शिक्षा के स्तर में गुणात्मक सुधार हेतु छमाही आधार पर TAF FORMAT शिक्षक
मूल्यांकन प्रपत्र (Teacher Appraisal format) भरवाया जा रहा है। इस प्रपत्र को सत्र 2015-16 से निरन्तर
अद्यतन एवं परिवर्धित कर फीडबैक सहित भरवाया जा रहा हैं। मानव संसाधन विकास मंत्रालय, नई
दिल्ली द्वारा वार्षिक कार्ययोजना एवं बजट सत्र 2020-21 द्वारा अनुमोदित शिक्षक मूल्यांकन प्रपत्र
(PINDICS) अन्तर्गत राज्य में कार्यरत माध्यमिक/प्रारम्भिक शिक्षा के कक्षा 1 से 8 में अध्यापन कराने वाले
शिक्षकों/संस्थाप्रधानों के कार्यों का स्व-मूल्यांकन, शिक्षण के दौरान आने वाली कठिनाईयों व चनौतियों
के आंकलन एवं शिक्षक प्रशिक्षणों का डेटाबेस गत वर्षों की भाँति तैयार किया जाना है।

शिक्षकों/संस्थाप्रधानों द्वारा TAF FORMAT शिक्षक मूल्यांकन प्रपत्र (Teacher Appraisal Format) सत्र
2020-21 भरे जाने हेतु दिशा-निर्देश निम्नानुसार है –

सामान्य निर्देश-

1. राज्य में माध्यमिक/प्रारम्भिक शिक्षा अन्तर्गत संचालित राजकीय विद्यालयों में कक्षा 1 से 8 में
अध्यापन कराने वाले शिक्षकों/संस्थाप्रधानों द्वारा प्रपत्र भरना आवश्यक है।
2. शिक्षक मूल्यांकन प्रपत्र शिक्षकों/संस्थाप्रधानों द्वारा विद्यालय/शिक्षक लॉगिन से समग्र शिक्षा
इन्टीग्रेटेड पोर्टल पर शिक्षकों/संस्थाप्रधानों की व्यक्तिगत जिम्मेदारी पर सिर्फ ऑनलाइन भरे
जाने हैं।


3. शिक्षक मूल्यांकन प्रपत्र सत्र 2020-21 में कुल दो बार छमाही आधार पर भरा जाना है। प्रथम
छमाही (01 जनवरी से 30 जून 2020) तथा द्वितीय छमाही (01 जुलाई से 31 दिसम्बर) आधार
पर सूचनाएँ इन्द्राज की जानी है। प्रथम छमाही से संबंधित सूचनाओं को आवश्यक रूप से
दिनांक 15 सितम्बर 2020 तक शिक्षकों/संस्थप्रधानों द्वारा ऑनलाइन भरा जाना है, तथा द्वितीय
छ:माही से संबंधित सूचनाओं को आवश्यक रूप से दिनांक 31 जनवरी 2021 तक
शिक्षकों/संस्थाप्रधानों द्वारा ऑनलाइन भरा जाना है।


4. जिन शिक्षकों/संस्थाप्रधानों के प्रपत्र निर्धारित टाईम लाइन अनुरूप वेब पोर्टल पर नही भरे
जायेंगे, उनका अगले माह का वेतन आहरित नही हो सकेगा और न ही ऐसे कार्मिकों की वेतन
वृद्धि लागू होगी।
5. प्रपत्र नही भरने वाले शिक्षकों/संस्थाप्रधानों का वेतन आहरित न हो तथा उनकी वेतन वृद्धि लागू
नही करने के लिए संबंधित संस्थाप्रधान/पदेन पंचायत प्रारम्भिक शिक्षा अधिकारी/मुख्य ब्लॉक
शिक्षा अधिकारी व्यक्तिशः जिम्मेदार होगें।


6. शिक्षक मूल्यांकन प्रपत्र भरे जाने के उपरान्त नियंत्रण अधिकारी द्वारा टिप्पणी किये जाने के बाद प्रिन्ट ऑपसन प्रदर्शित हो जायेगा। जिस पर क्लिक करके भरा हुआ शिक्षक मूल्यांकन प्रपत्र
प्रिन्ट कर लेवें तथा अपने स्वयं के रिकॉर्ड हेतु संधारित करें।
7. जिन शिक्षकों/संस्थाप्रधानों को शिक्षक मूल्यांकन प्रपत्र ऑनलाइन भरने में कठिनाई महसूस हो
रही हो तो वह अपने संबंधित पीईईओ/सीबीईओ कार्यालय में कार्यरत कम्प्यूटर ऑपरेटर की
ऑनलाइन फीडिंग हेतु सहायता ले सकेंगे।

मूल्यांकन प्रपत्र पर टिप्पणी करने हेतु मनोनीत नियंत्रण अधिकारी

1. पदेन पंचायत प्रारम्भिक शिक्षा अधिकारी (PEEO) परिक्षेत्र के अधीन सभी प्राथमिक एवं उच्च
प्राथमिक विद्यालयों के शिक्षकों एवं संस्थाप्रधानों द्वारा शिक्षक मूल्यांकन प्रपत्र भरे जाने की स्थिति
में नियंत्रण अधिकारी स्वयं उनके पदेन पंचायत प्रारम्भिक शिक्षा अधिकारी (PEEO) होगें!
2. नियंत्रण अधिकारी के रूप में संबंधित शिक्षकों के मूल्यांकन प्रपत्र पर तद्नुसार टिप्पणी करेंगे।
3. पदेन पंचायत प्रारम्भिक शिक्षा अधिकारी (PEEO) विद्यालय में कार्यरत शिक्षकों द्वारा शिक्षक मूल्यांकन प्रपत्र भरे जाने की स्थिति में नियंत्रण अधिकारी स्वयं उनके पदेन पंचायत प्रारम्भिक शिक्षा अधिकारी (PEEO) होगें तथा नियंत्रण अधिकारी के रूप में स्वयं पीईईओं, विद्यालय के शिक्षकों के मूल्यांकन प्रपत्र पर तदनुसार टिप्पणी करेंगे।


4. प्रत्येक पंचायत में संचालित ऐसे माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक विद्यालय जो पीईईओ विद्यालय
के रूप में चयनित नही है, उन विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों द्वारा शिक्षक मूल्यांकन प्रपत्र भरे
जाने की स्थिति में नियंत्रण अधिकारी स्वयं उनके विद्यालय के प्रधानाचार्य/प्रधानाध्यापक होगें! और नियंत्रण अधिकारी के रूप में विद्यालय के शिक्षकों के मूल्यांकन प्रपत्र पर तदनुसार टिप्पणी
करेंगे।


5. शहरी क्षेत्र में संचालित समस्त प्राथमिक, उच्च प्राथमिक माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक विद्यालयों
में कार्यरत शिक्षकों द्वारा शिक्षक मूल्यांकन प्रपत्र भरे जाने की स्थिति में नियंत्रण अधिकारी स्वयं
उनके विद्यालय के संस्थाप्रधान होगें और नियंत्रण अधिकारी के रूप में विद्यालय के शिक्षकों के
मूल्यांकन प्रपत्र पर तदनुसार टिप्पणी करेंगे।
6. शहरी क्षेत्र में संचालित समस्त प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों में कार्यरत संस्थाप्रधानों
द्वारा शिक्षक मूल्यांकन प्रपत्र भरे जाने की स्थिति में नियंत्रण अधिकारी उनके संबंधित मुख्य
ब्लॉक शिक्षा अधिकारी होगें और नियंत्रण अधिकारी के रूप में विद्यालय के संस्थाप्रधानों के
मूल्यांकन प्रपत्र पर तद्नुसार टिप्पणी करेंगे।

शिक्षक मूल्यांकन प्रपत्र में इन्द्राज की जाने वाली सूचनाएं

भाग-1 इसमें शिक्षक/संस्थाप्रधान को अपनी शैक्षणिक/प्रशैक्षणिक योग्यता, एम्पलाई आईडी,एसआई नं., एनआईसी आईडी एवं अन्य व्यक्तिगत सूचनाएं भरी जानी है।
1.1 में शिक्षक/ संस्थाप्रधान वर्तमान जिन कक्षा एवं विषयों को पढ़ा रहा/रही है उनकी जानकारी भरें।
1. 2 में शिक्षक/संस्थाप्रधान द्वारा विगत छ: माह की औसत उपस्थिति तथा शैक्षणिक/गैर
शैक्षणिक कार्य हेतु अन्य विभाग में प्रतिनियुक्ति पर रहे कुल दिवसों की संख्या इन्द्राज करनी है।
1.3 से लेकर 1.7 स्वतः स्पष्ट हैं। अतः शिक्षक/संस्थाप्रधान अपने विवेक से वास्तविक तथ्यों के
आधार पर आधारित सूचना भरें।


1.5 अन्तर्गत सिर्फ संस्थाप्रधान के कार्य का समग्र मूल्यांकन किया जाना है जिसे संस्थाप्रधान के
सम्बन्धित नियंत्रण अधिकारी द्वारा भरा जाना है।
1.8 में शिक्षक को यदि किसी का ब्लॉक/जिला/राज्य/राष्ट्र स्तरीय पुरस्कार मिला हो या
उसका विद्यालय के भौतिक विकास में योगदान/सहशैक्षिक गतिविधियों का संचालन/क्रियात्मक
अनुसंधान/लेखन कार्य, किसी अन्य तरह से योगदान रहा हो तो संबंधित कॉलम में टिक करें।
भाग-2 को समस्त शिक्षकों/संस्थाप्रधानों द्वारा अद्यतन करने की दृष्टि से भरना है। उक्त भाग
में शिक्षकों की प्रशिक्षण संबंधी सूचना दर्ज की जानी है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: