HCNG क्या होता हैं?? क्या यह CNG से बेहतर हैं?? आएये जानतें हैं।

दोस्तों! अब मोटर व्हीकल HCNG से चलेंगे! यह एक प्रकार का ईंधन ही है जिसमें हाईड्रोजन और संपीडित प्राकृतिक गैस का मिश्रण होता हैं! इसे H2CNG के नाम से भी जाना जाता हैं! आइए जानते हैं कि इस ईंधन से क्या लाभ-हानियाँ हैं और क्यों इस ईंधन की आवश्यकता महसूस हुई।

चलिये शुरु करते हैं।

जैसे-जैसे मानव ने विकास किया हैं वैसे-वैसे अधिक से अधिक संसाधनों का प्रयोग करने लगा हैं! इन संसाधनों को चलाने के लिए किसी न किसी प्रकार से शक्ति(energy) की आवश्यकता होती हैं ! वैज्ञानिकों के अनुसार एनर्जी को बनाया नहीं जा सकता हैं, उसे एक फॉर्म से दुसरे फॉर्म मे ट्रांसफर ही किया जा सकता हैं! जैसे- wind energy से इलेक्ट्रिक एनर्जी, सोलर से electric एनर्जी, कोयले से विद्युत ऊर्जा आदि।

अब जैसा कि आपकों पता हैं किसी भी मोटर व्हीकल को चलाने के लिये किसी भी प्रकार के ईंधन की आवश्यकता होती हैं! यह ईंधन 2 प्रकार का होता हैं।

ईंधन(fuel) या ऊर्जा के दो रूप होते हैं-

1. Renewable 2. Non renewable

Renewable fuel या ऊर्जा वह होती हैं जिसको बार-बार काम मे लिया जा सकता हैं! इसका खत्म होने का डर नही रहता हैं। जैसे- सौर ऊर्जा।

Nonrenewable fuel या ऊर्जा वह होती हैं , जिसका कि एकबार प्रयोग करने के बाद पुन: बनने में लाखों साल लग जाते हैं! जैसे- कोयला, डीजल- पैट्रोल आदि।

HCNG की आवश्यकता क्यों पड़ी?

आधुनिक युग में हर क्षेत्र मे technology का इस्तेमाल होने लगा हैं! बढ़ती technology से हर क्षेत्र में ऊर्जा या ईंधन की भी अधिक खपत होने लगी हैं।

वर्तमान मे सबसे ज्यादा उपयोग मे आनें वाले ईंधन हैं-पैट्रोल और डीजल! और ये दोनो ही ईंधन Nonrenewable हैं, तो जाहिर सी बात है कि कुछ दिनों बाद ये ईंधन खत्म होने वाले हैं! पैट्रोल-डीजल से निकलने वाला धुआँ भी अधिक प्रदूषण फैलाता हैं! तो अब हमें आवश्यकता हैं एक एसे fuel की जो अधिक माईलेज दे, आसानी से सभी जगह उपलब्ध हो सके और प्रदूषण भी कम करें।

इन्हीं बातो को ध्यान में रखते हुए अब CNG के साथ HYDROGEN मिलाकर एक नये ईंधन का निर्माण किया जा रहा हैं! जो HCNG के नाम से जाना जाता हैं! यह अधिक मायलेज देता हैं, प्रदूषण कम करता हैं और power भी अधिक produce करता है! इन्हीं सब अच्छाईयों के कारण HCNG को बाजार मे लाया गया हैं।

वास्तव मे HCNG क्या होता हैं?

यह hydrogen गैस और CNG को मिलकर बनाया जाता हैं! इसमें hydogen 20 % तक मिलाया जाता हैं। जिससे power मे वृध्दि हो जाती हैं।


दुनिया भर में सभी प्रयोगों से पता चला था कि हाइड्रोजन और प्राकृतिक गैस के मिश्रण
विनियमित प्रदूषकों और CO2 दोनों के निकास उत्सर्जन को कम करता हैं और दक्षता में वृद्धि करता हैं!

सीएनजी के साथ हाइड्रोजन का सम्मिश्रण एक मिश्रित गैस प्रदान करता है, जिसे एचसीएनजी कहा जाता है! HCNG का मतलब हाइड्रोजन से समृद्ध संपीड़ित प्राकृतिक गैस है और यह दोनों ( हाइड्रोजन और मीथेन। ) के फायदों को जोड़ती है! HCNG ग्राहकों को लगभग वाणिज्यिक प्रौद्योगिकी के साथ शुरुआती हाइड्रोजन नियोजन की अनुमति देता है! यह दावा किया जा रहा है कि भविष्य की हाइड्रोजन अर्थव्यवस्था की दिशा में पहला कदम माना जायेगा! कार्बन मुक्त संचालन के कारण हाइड्रोजन को बिजली व्यवस्था के लिए भविष्य का माध्यमिक ईंधन माना जा सकता है!

केवल हाईड्रोजन से चलाने वाला इंजन अभी प्रैक्टिकली सम्भव नहीं हो पा रहा हैं! साथ ही हाइड्रोजन के बुनियादी ढांचे और ईंधन भरने वाले स्टेशन मांग को पूरा नहीं कर रहे हैं, इसलिए निकट भविष्य में हाइड्रोजन वाहनों की शुरूआत संभव नहीं है! इस बाधा का एक उपाय है- मिथेन के साथ हाइड्रोजन को मिलाना !

हालांकि, हाइड्रोजन के साथ संपीड़ित प्राकृतिक गैस (HCNG) अभी भी अनुसंधान के तहत है! यह ईंधन दक्षता बढ़ाता है और कार्बन उत्सर्जन कम करता है, लेकिन इसने NOx उत्सर्जन को भी बढ़ाया है। जो कि मानव समाज के लिए जहर से कम नहीं हैं! इससे ब्रीदिंग प्रोब्लम्स हो सकती हैं।

क्या HCNG fuel, CNG के मुकाबले ज्यादा efficient और environment friendly होता है?? आओ समझते हैं।

ईंधन के रूप में HCNG का उपयोग करने के कुछ लाभ निम्नलिखित हैं!

  1. प्राकृतिक गैस के अलावा हाइड्रोजन इंजन के असंतुलित हाइड्रोकार्बन और NOx को कम कर सकता है! यह मौजूदा सीएनजी बुनियादी ढांचे के साथ प्रयोग करने योग्य है! इसके लिए केवल छोटे हाइड्रोजन भंडारण की आवश्यकता होती है!
  2. प्राकृतिक गैस के साथ हाइड्रोजन के मिश्रण के लिए एक कॉलम की ही आवश्यकता होती हैं!
  3. सुरक्षा के दृष्टि से भी HCNG, CNG के समान ही हैं! यह हाईड्रोजन की तुलना मे अधिक सुरक्षित हैं! क्योंकि ईसमे हाईड्रोजन से बहुत कम उर्जा सामग्री होती हैं! ( केवल आयतन का 20% तक)
  4. यह CNG की lean misfire limit को बढ़ाती हैं।
  5. CNG मे H2 मिलाने से इंजन की तकनीकी में कुछ मोडिफिकेसन करना होता हैं, जो माइनर होता हैं!
  6. प्राकृतिक गैस में हाइड्रोजन मिलाने के कारण इंजन से निकलने वाले असंतुलित हाइड्रोकार्बन और NOx उत्सर्जन को भी कम करता हैं! जो कि lean burning से पैदा होता हैं!
  7. यह इंजन को गति देता हैं और इंजन की दक्षता में सुधार करता है, तथा ईंधन की खपत को कम करता है!

HCNG भारत में

• दिल्ली रोल आउट करने वाला देश का पहला शहर होगा जो
हाइड्रोजन से समृद्ध संपीड़ित प्राकृतिक गैस (HCNG) से
नवंबर 2020 तक सार्वजनिक परिवहन के लिए बसें चलाएगा!
• यह 50 CNG बसों के साथ पायलट प्रोजेक्ट के रूप में शुरू होगा!
वायु प्रदूषण तेजी से गंभीर वैश्विक बीमारी होने से, और
बढ़ती जनसंख्या की समस्या के कारण HCNG की माँग में वृद्धि हुई है!
• इसके अलावा, इंडियन ऑयल के साथ दिल्ली सरकार
कॉर्पोरेशन लिमिटेड (IOCL) और इंद्रप्रस्थ गैस
लिमिटेड (IGL) ने भारत का पहला अर्ध-वाणिज्यिक HCNG स्टेशन स्थापित करने के लिए काम शुरू किया।

HCNG की शुरुआत कैसें हुए?

आंतरिक दहन इंजनों में हाइड्रोजन(H2) और प्राकृतिक गैस (CNG) के मिश्रणों का अनुप्रयोग 90 के दशक में शुरु हुआ था! पिछले दो दशकों में दुनिया भर में कई प्रयोग किए गए थे! सभी प्रयोगों से पता चला कि हाइड्रोजन और प्राकृतिक गैस के मिश्रण विनियमित प्रदूषकों और CO2 दोनों के उत्सर्जन को कम करता हैं और दक्षता में वृद्धि करता हैं!

डेनवर हैथेन में एक प्रोजेक्ट में तीन समान वाहनों पर तुलनात्मक परीक्षण हाईथेन के साथ किया गया था! जिसमें वॉल्यूम से 15% हाइड्रोजन, 85% प्राकृतिक गैस को डाला गया! जिसमे निष्कर्ष ये निकला कि इसमें हाईड्रोजन की मात्रा और बढ़ाई जा सकती हैं! फिर प्रयोगों से पता चला कि H2 का 20% आयतन वांछित लाभ प्रदान करने के लिए उचित पाया गया!

सारांश

अध्ययन से यह स्पष्ट होता है कि HCNG का उपयोग ईंधन के रूप में करना लाभप्रद है!
एसआई इंजन में ईंधन के रूप में सीएनजी में हाइड्रोजन का जोड़ देना इंजन की
दक्षता पर महत्वपूर्ण और सकारात्मक प्रभाव डालता हैं! विशेष रूप से lean limit वाले इंजन्स पर !
HCNG से इंजन लीनर को चलाना संभव है, जिसके परिणामस्वरूप CO2, CO और HC का उत्सर्जन कम होता है! लेकिन HCNG के
निरंतर अधिक अनुपात में उपयोग करने से NOx का उत्सर्जन होता है, जिसका निकट भविष्य में प्रयोगत्मक विकास से समाधान हो सकेगा!

अत: यही कह सकतें है कि अगर HCNG के प्रयोग से निकलने वाले NOx का उत्सर्जन कम कर दे तो HCNG चलित इंजन श्रेष्ट सिद्ध हो सकतें हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: