E-SIM FRAUD क्या होता हैं? जानिए बचने का तरीका।

दोस्तों! आधुनिक युग में रोजाना नई-नई तकनीक सामने आ रही हैं! जिससे अपने जीवन में अधिक सुविधाओ का विस्तार हुआ हैं! लेकिंन जैसे-जैसे सुविधाएँ बढ़ती हैं वैसे-वैसे ही हेकिंग,डेटा चोरी, फ्रॉड की संभावना भी बढ़ गई हैं! इसी प्रकार की फ्रौडिंग में एक आता हैं.      E-SIM फ्रॉड। इसके बारें में जानने से पहले हम यह जान लेते हैं कि E-SIM क्या होता हैं!

E-SIM क्या होता हैं?

यह एक डिजिटल सीम कार्ड होता हैं,जो हमें cellular plan उपलब्ध करवाता हैं! वो भी बिना फिजिकल सीम कार्ड के! मतलब ये है कि हमारे मोबाईल फोन में कोई सीम कार्ड लगाने की जरूरत नहीं हैं और हम उन सभी सुविधाओ का लाभ उठा सकेंगे जो एक फिजिकल सीम कार्ड से उठाते हैं!

क्या मैं मेरी सीम को E-SIM में बदल सकता हूँ?

Yes! कोई भी customer अपने सीम कार्ड को e-sim में बदल सकता हैं, बशर्ते मोबाइल e-sim सपोर्ट करता हो!

अपनी सीम को E-sim में कैसें अपग्रेड करें?

अपने सीम कार्ड को e-sim में बदलने के लिए तरीका Google पर सर्च करने के बजाए अपने नजदीकी ब्रांच पर सम्पर्क कर ले या औथेंटीक वेबसाइट्स पर बताए गये तरीको का ही इस्तेमाल करें!ध्यान रखें कि अपग्रेड करते समय OTP या QR CODE किसी के साथ भी शेयर ना करें!

आपकी सुविधा के लिए हम यहाँ पर AIRTEL का सीम कार्ड अपग्रेड करने का प्रोसेस दर्शा रहें हैं-

1. सबसे पहलें आपकों अपने मोबाइल नंबर से रजिस्टर्ड ई-मेल के साथ 121 पर एक टैक्स्ट मैसेज करना होगा, जिसका फॉर्मेट निम्नानुसार रहेगा- ‘eSIM<SPACE>email ‘

2. फिर आपकों सेलुलर कंपनी की तरफ़ से एक मैसेज और एक कॉल आयेगा! जिसमें आपकों कन्फर्म करना होगा कि आप ही ने e -sim के लिए request की हैं!

3. कन्फर्मेशन कर बाद आपनें जो मेल आई डी सेंड की हैं, उस पर एक मेल आयेगा! जिसमें QR CODE होगा! इस QR CODE को उसी मोबाइल से स्केन करना हैं जिसमें आपकों ये e-sim चलाना हैं!

4. स्केन करने के लिए iphone युजर्स “Data plan option” मे जाना होगा!

E-SIM सपोर्टेड फ़ोन

Apple iPhone 11, 11 Pro, Pro Max, SE, Xs, Xs Max, Xr, 12 Mini, 12, 12 Pro , 12 Pro Max. Motorola razr. Samsung Galaxy Z Flip, Note 20, Note 20 Ultra, Fold 2 Google pixel 3A. आदि।

4. फिर मोबाइल के निर्देशानुसार set-up पूरा कर ले!

विशेष:- ऊपर एयरटेल सीम को अपग्रेड करने का प्रोसेस बताया गया हैं! सभी कम्पनी का अलग-अलग प्रोसेस होता हैं! ध्यान देने वाली बात ये हैं कि आपकों अपग्रेड करते समय क़्यू आर कोड और ओटीपी किसी के भी साथ शेयर ना करें!

इसे ही प्रोसेस का फायदा उठा कर फ्रौडर्स कैसें फ्रौड को अंजाम देते हैं! आइए समझते हैं!

E-SIM फ्रॉड को कैसें अंजाम देते हैं? आइए जानतें हैं।

1. सबसे पहलें आपकों एक मैसेज मिलता हैं कि आपका सीम कार्ड अगले 24 घंटो में ब्लॉक होने वाला हैं! या एसे हो सकता हैं कि आपकों E-KYC अपडेट करनी होगी!

2. फिर वह fraudster आपकों कॉल करता हैं और कहता हैं कि वह (airtel, Vodafone, idea, jio और कोई भी टेलीकॉम कंपनी ) से बात कर रहा हूँ! आपका सीम कार्ड अगले 24 घंटे में बन्द हो जायेगा! यदि आप चालू रखना चाहते हैं तो दिए गए निर्देशों का पालन करे।

3. आगे वह कहता है कि आपकी E-KYC करनी होगी! इसके लिए मैनें आपकों एक टैक्स्ट मैसेज या E-MAIL सेंड किया है! उसमे एक लिंक होगा! उस पर क्लिक कीजिये और एक फॉर्म खुलेगा उसे भर दीजिए।

4. फॉर्म भरने के बाद वह कहता हैं कि आप E-SIM का request कर दीजिए ,आपका सीम कार्ड अगले 24 घन्टे मे block नहीं होगा! Victim अपनी रजिस्टर्ड e-mai आई डी से e-sim के लिए request कर देता हैं।

5. एसे ही बातों मे फँसाकर victim से QR CODE भी ले लीया जाता हैं! जिसे स्केन करके fraudster उनके फ़ोन में e-sim activate कर लेता हैं!

6. जैसे ही fraudster के फ़ोन मे e-sim activate होती हैं, victim का सीम कार्ड बन्द हो जाता हैं!

7. अब fraudster को आपसे कोई काम नहीं हैं! वह victim के नम्बर से रजिस्टर्ड बैंक अकाउंट्स का पता करता हैं और विभिन्न तरीके लगाकर आपका अकाउंट खाली कर देता हैं,क्योंकि उसके पास आपका बैंक रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर हैं! सारे OTP उसी पर आयेंगे।

दोस्तों! इस लेख में फ्रॉड के बारें में बताने के पीछे हमारा आशय केवल युजर्स को जागरूक करना हैं! ताकि वे एसे फ्रॉडस से बच सके। किसी भी प्रकार के फ्रॉड को अंजाम देना नहीं हैं!

यह भी पढ़ें- साइबर सुरक्षा सीखें।

E-SIM फ्रॉड से कैसें बचे!

दोस्तों! किसी फ्रॉड से बचने के लिए यह जानना आवश्यक हैं कि मोटे तौर पर वह फ्रॉड होता कैसें हैं! तो हमनें ऊपर समझ ही लीया कि E-SIM फ्रॉड कैसें होता हैं।

1. अगर आपके मोबाइल नंबर पर 4G डेटा या सीम कार्ड अपग्रेड करने का कोई कॉल आता हैं तो उस कॉलर पर बिल्कुल भी भरोसा ना करें! तुरंत कॉल disconnect कर दे।

2. कोई कॉलर या मैसेज e-sim से जुड़ा आता हैं तो उसे रिप्लाई ना करें और ना ही उसके दिए लिंक पर क्लिक करें!

3. QR-CODE, OTP किसी के साथ शेयर ना करें!

4. किसी भी कॉलर की बातों मे ना आए! अपने और परिवार वालों की किसी भी प्रकार की जानकारी ना दे! भले भी वह जानकारी बैंक से सम्बंधित ना हो!

5. अनावश्यक एप्प्स डाउनलोड ना करे! एप्प पर्मिशन देते समय सतर्क रहें!

6. किसी भूलवश आपने अपनी जानकरी फ्रॉडस्टर को शेयर कर दी हो तो तुरंत अपने बैंक से सम्पर्क करे और अपने अकाउंट से सुरक्षित करवाये! और सायबर रिपोर्टिंग पोर्टल पर अपनी कम्प्लेंट जरूर दर्ज करवाये!

सारांश

आशा करता हूं कि आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा होगा! फिर भी E-SIM फ्रॉड  से सम्बंधित आपका कोई सवाल हो तो,बेझिझक कमेंट बॉक्स में लिखें! हमारी टीम आपके हर सवाल का जवाब देने के लिए हमेशा कोशिश में रहेगी।

जय हिंद। जय भारत।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: