ATM सावधानियाँ

ATM कार्ड स्लॉट में ग्रीन लाईट क्यो होती हैं ?

आज के ज़माने में एटीएम की सुविधा ने कैश की झंझट तो मानो खत्म ही कर दी। जहां जाओ वहां कैश निकलवा लो और कहीं भी उपयोग कर लो। लेकिन जैसे-जैसे सुविधा बढ़ी है, वैसे-वैसे रिस्क भी बढ़ी है। एटीएम से कैश निकालने में दिन-प्रतिदिन अलग-अलग प्रकार के फ्रॉड नजर आ रहे हैं। आप भी कैश निकालते हैं तो आपको यह सुनिश्चित कर लेना चाहिये कि जहाँ से आप कैश निकाल रहे हैं, क्या वह ATM सुरक्षित हैं?

ATM से हेकिंग में सबसे ज्यादा प्रचलित है कार्ड क्लोनिंग। कार्ड क्लोनिंग का मतलब है कि आपके कार्ड की समस्त जानकारियां चुरा के दूसरा कार्ड तैयार कर लेना। और उसी से ट्रांजेक्शन किए जाते हैं। ये जानकारियां हेकर्स एटीएम स्लॉट में माइक्रो चिप या डिवाइस लगाकर चुरा लेते हैं। और फिर हैकर्स वाई फाई या ब्लूटूथ  से उस जानकारी को अपने तक ले लेते हैं। उस जानकारी से आपके कार्ड का क्लोन तैयार कर लेते हैं। जिससे वे सारे ट्रांजेक्शन कर आपका बैंक अकाउंट खाली कर सकते हैं। हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसी बातें, कुछ सावधानियां जिनकी मदद से आप एटीएम से ₹ निकालते टाइम सुरक्षित रह सकते हैं। इन सावधानियों से आप हैकरों के हाथ में जाने से बच सकते हैं अपने बैंक अकाउंट को हल होने से बचा सकते हैं।

पिन कोड डालते समय हाथ से छिपाए।

पिन का पूरा एक्सेस लेने के लिए हेकर्स को पिन कोड की जरूरत पड़ती है। तो आपको सावधानी रखनी चाहिए कि किसी भी एटीएम में अपने पिन एंटर करते समय हाथ से छिपाए। हो सकता है हेकर एटीएम में लगे कैमरे से। या अन्य केमरा इन्स्टॉल किया हुआ हो जिससे आपके पिन कोड चुरा लें। तो जब भी अपना पिन एंटर करे हाथ से जरूर छिपाएं।

यह भी पढ़े ➡️ ऑनलाइन शॉपिंग करते हो तो वर्चुअल कार्ड जनरेट करें

2. कार्ड स्लॉट को ध्यान से देखें ।

जब भी आप एटीएम में ₹ निकलवाने जाते हैं। एटीएम में जाते ही सबसे पहले स्लॉट कार्ड को ध्यान से देखें। उसमें कोई गड़बड़ी या कोई अलग से कुछ डिवाइस चिपका हुआ तो नहीं है। आपको कुछ गड़बड़ लगे तो वहां से ₹ नहीं निकलवाए।

3. कार्ड स्लॉट में लाईट चेक करें ।

तीसरी ध्यान रखने योग्य बात ये है कि जब भी आप रुपये निकालने ATM जाते हैं। तो स्लॉट के अंदर देखें कि वहां कौन सी लाईट चल रही है अगर ग्रीन लाइट जल रही है तो एटीएम सुरक्षित है, वहां से आप ट्रांजैक्शन कर सकते हैं। ₹ निकलवा सकते हैं। लेकिन ग्रीन लाइट के बजाय वहां पर कोई अन्य लाइट जल रही हो। या लाइट ही नहीं जल रही हो तो उस एटीएम का प्रयोग नहीं करें।

4. सतर्क रहें ।

किसी एटीएम पर आप ₹ निकलवाने जाते हैं और वहाँ पर आपने जल्दी-जल्दी में सब कुछ चेक नहीं किया और अपना कार्ड डालकर ट्रांजेक्शन कर लिया। आपको ट्रांजैक्शन करने के बाद पता चलता है कि स्लॉट में कोई चिप लगी हुई है। या कुछ अलग डिवाइस लगा हुआ है। तो आप जल्दी से जल्दी पुलिस से संपर्क करें और अपने बैंक में भी सम्पर्क करें। बैंक में सूचना देने से होगा ये कि वहाँ पर तत्काल बैंक की टीम आ जाएगी और वहां लगे डिवाइस या चिप से कौन सा ब्लूटूथ या वाई-फाई कनेक्टेड हैं तो इससे हैकर को पकड़ा जा सकता है और बड़ी ठगी से बचा जा सकता है। तो कहने का मतलब यही है कि आप जितने सावधाान रहोगे उतने ही सुरक्षित रहोगे ।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: