इंटरनेट (INTERNET)

इंटरनेट (INTERNET) क्या हैं ?

दोस्तों! इंटरनेट (INTERNET) का शाब्दिक अर्थ होता है:-अन्तर्जाल अर्थात् विभिन्न स्थानों पर स्थित विभिन्न प्रकार के कम्प्युटर्स का आपस में जुड़ा हुआ होना। सामान्य भाषा में हम इंटरनेट को इस प्रकार समझ सकते हैं-इंटरनेट एक विश्व स्तर पर स्थित विभिन्न कंप्यूटर्स को कनेक्टेड होने के लिए या कनेक्ट करने के लिए एक इंटर कनैक्टेड प्रणाली है,जिसको हम इंटरनेट कहते हैं।

पुराने जमाने में संचार के लिए सीमित साधन ही प्रयुक्त होते थे लेकिन जैसे-जैसे विज्ञान का विकास हुआ जैसे-जैसे नये आविष्कार हुए वैसे-वैसे संचार के साधनों में अत्यधिक सुगमता होने लगीं और संचार के नए नए साधन आने लगे। इन्हीं साधनों में से सबसे आधुनिक साधन जिसे हम कह सकते हैं, वह है इंटरनेट। इंटरनेट कोई एक चीज या एक वस्तु नहीं है, यह हजारो, लाखों , करोडों कम्प्यूटर्स को आपस में जोड़कर एक नेटवर्क, एक जाल बना हुआ है और यही इंटरनेट के नाम से जाना जाता है। जिसमें बहुत सारे यूजर्स होते हैं। इंटरनेट पर ब्राउज़ करने के लिए हमें ब्राउज़र की आवश्यकता होती है ब्राउज़र के माध्यम से ही हम इंटरनेट की दुनिया में एंटर कर सकते हैं और वहाँ स्थित सभी चीज़ों को देख सकते हैं।

इंटरनेट में प्रयुक्त होने वाले शब्द :–

Browser,डब्लू डब्लू डब्लू ,सर्च इंजन , URL,सर्वर, ब्राउज़र ,सर्फिंग, साइट, ब्लॉग, डोमेन और भी बहुत सारे एसे शब्द हैं । इन सब के बारें मे जानने लगे तो बहुत से दिन लग जायेंगे । इन सब पर हम अलग से एक एक पोस्ट बनाएँगे जिसमें आसानी से समझ आ जायेगा।

इंटेरनेट का महत्त्व:

इस भाग-दौड़ भरी जिंदगी में अधिक से अधिक काम करने के लिए हमें आधुनिक तकनीक की आवश्यकता होती है जिसमें हम कम समय में अधिक से अधिक काम निकाल सके। जैसे:– 1.ऑनलाइन शॉपिंग करनी हो । 2.आफ़िस का काम करना हो। 3.बैंक मे लेंन-देन करनी हो । 4.हमें किसी को सूचना देनी हो। 5.व्यापार को बढावा देना हो। 6.मनोरंजन करना हो। 7.ऑनलाइन जॉब करना हो (फ्रीलांसर)। 8.ऑनलाइन स्टडी करना हो। 9.किसी दूर- दराज़ के व्यक्ति से बात करनी हो आदि ।और भी बहुत सी चीजें हैं जिससे हमारे समय में बचत होगी।

इंटरनेट से इतनी सुविधाएं तो हैं लेकिन जैसे-जैसे सुविधाएं बढ़ती है वैसे रिस्क भी बढ़ती है। इंटरनेट से बहुत सारे नुकसान भी है:-1. इन्टरनेट पर स्थित अश्लील साहित्य से बच्चों के बिगाड़ने का पूरा खतरा हैं। 2. इंटरनेट पर हेकिंग की भी समस्या हैं। 3. इंटरनेट का आदी हो जाना। 4. इंटरनेट दिनो दिन ज्यादा महंगा होना। 5. साईबर क्राईम आदि कई समस्याएं आती हैं।

इंटरनेट की शुरुआत कैसे हुइ :–

अमेरिकी सेना की सूचनाएं अनुसंधान प्रौद्योगिकी को विकसित करने को ध्यान में रखते हुए अमेरिका (यू एस एडवांस रिसर्च प्र्रोजेक्ट एजेंसी)ने सर्वप्रथम 1973 में एक इंटर जाल का विकास किया था जो कि आज इंटरनेट के नाम से जाना जाता है। उनका उद्देश्य था कि विभिन्न प्रकार के कंप्यूटरों को एक साथ जोड़ा जाए और एक नेटवर्क स्थापित किया जाए ताकि एक दूसरे को जानकारी मिल सके । इसे “इन्टरनेटिंग प्रोजेक्ट”नाम दिया गया जो आगे चलकर “इंटरनेट”के नाम से जाना जाने लगा।

सवालों के जवाब कमेंट् करें :—

1. इंटरनेट क्या हैं?

2.इंटरनेट मे प्रवेश करने के लिए किसकी जरूरत होती हैं?

3.HTMLकी फुल फॉर्म क्या हैं?

4.क्या आप फ्रीलांसर के बारे मे जानना चाहते है?

5.इन्टरनेट कब से शुरु हुआ?

6.इंटरनेट को बनाते टाईम उसका क्या उद्देश्य था?

7. इंटरनेट का प्रारम्भ में क्या नाम रखा था?

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: